Home / Aunty / गर्लफ्रेंड की माँ मेरे लंड का स्वाद चखी

गर्लफ्रेंड की माँ मेरे लंड का स्वाद चखी

हे दोस्तों, मेरा नाम विकी है और मैं मुंबई में रहता हूं. मेरी उम्र २२ साल है और मैं एक स्पोर्ट्स मैन हूं, मेरी हाईट ६ फुट ३ इंच है और मैं मुंबई में जिगोलो सर्विस भी देता हूं, तो कोई आंटी और गर्ल इंटरेस्टेड हो तो मुझे मेल करें, अब मैं अपनी गर्लफ्रेंड की कहानी पर आता हूं. कहानी ४ महीने पहले की है, हमारे ऑफिस में नया बेच आया, उसमें एक लड़की थी उसका नाम प्रियंका था. क्या बताऊं दोस्तों दिखने में बहुत मस्त और सेक्सी थी. मतलब कोई उसे देख ले तो दिल ही दिल में उसे चोद दे, मैंने भी वैसा ही सोचा और उससे दोस्ती बनाना शुरु कर दिया..

कुछ ही दिन में हम काफी अच्छे दोस्त बन गए और एक दिन प्रोजेक्ट के वर्क के लिए उसने मुझे अपने घर पर बुलाया, उसके घर में उसका छोटा भाई उसके पापा जो की पॉलिटिक्स में है और उसके बाद उसकी मा जो बेटी से भी ज्यादा हॉट दिखती है, उनको पहले बार देखा तो ऐसा लगा जैसे आपकी बेटी नहीं तो आप पट जाओ तो मजा आ जाए. कुछ दिनों बाद दिवाली के दिन में मैं प्रियाका के घर उस से मिलने जाता हूं, उस दिन मैंने छत पर मौका देख के उसको प्रपोज कर दिया और उसने भी हां बोल दिया..

loading...

मैं उसको किस किया, उसके ५ मिनट बाद हमने फिर से फैमिली की पूजा में जॉइन कर लिया, फिर मैं और प्रियंका धीरे धीरे रोज मिलने लगे और तो कभी मरीन ड्राइव कभी मूवी में जा कर रोमांस करते थे, एक दिन प्रियंका का मुझे कॉल आया की मेरे घर पर आओ. तो में चला गया रात के २ बजे, उसने मेरे लिए घर का दरवाजा खोल दिया और मुझे अंदर लिया. फिर धीरे धीरे हम उसके रुम में एंटर हुए और फिर क्या था? हमने एक सेकंड भी इंतजार नहीं किया और पागलों की तरह एक दूसरे को किस करने लगे.  मैंने उसको दीवार से सटा दिया और धीरे धीरे से किस करते हुए मैं उसके बूब्स पर हाथ रब करने लगा और उसको मजा आने लगा.

प्रियंका का फिगर ३४-३०-३६ है, फिर मैंने उसको गोदी में उठा कर बेड पर लेटाया और जोर से चोदा मैं उसको, उसके बेड़ की आवाज हु बहुत तेज से और हम डर गए. पर कुछ नहीं हुआ कोई नहीं आया. हम फिर से किस करने लगे, ५ मिनट किस करने के बाद मैंने उसको बोला कि डार्लिंग आज मैं तुझे बहुत जम के चोदने वाला हूं.

उसने कहा बेटा तुझे चोदने के लिए बुलाया है.

मैंने कहा तो आज मैं मादरचोद बनकर तेरी हवस मिटा ही दूँगा.

और मैंने उसका टॉप और शोर्ट  दोनों उतार दिया, और वह मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी, क्या लग रही थी..

फिर उसने मेरा लोवर और टी शर्ट दोनों उतार दिए और अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ कर खेलने लगी क्योंकि वह पहले से ही खड़ा हुआ था, बाहर आने को बेताब था. मैंने देर ना करते हुए उस को बाहर निकाला और उस को कुछ बोलने देता उससे पहले ही मैंने उसके मुंह में लंड डाल दिया और चूसाने लगा. लंड बड़ा होने के कारण उसके मुंह में पूरा नहीं जा रहा था और मैं बहुत जोर से उसके मुंह की चुदाई कर रहा था.

फिर वह मेरा लंड बड़े प्यार से दिखने लगी उतने में मैंने उसकी ब्रा उतार दी है और उसके बड़े बड़े दूध को आजाद कर दिए. ५ मिनट बाद मेंने उसको घुमाकर 69 की पोजिशन में ले आकर उसकी पैंटी भी उतार दी, अब वह पूरी नंगी थी मेरे सामने और क्या चूत थी उसकी बिल्कुल क्लीन शेव थी.

मैं उसकी चूत चाट रहा था वह मेरा लंड चूस रही थी. मैं धीरे धीरे उसकी गांड के छेद में उंगली करना शुरु कर दिया, उसको बहुत मजा आ रहा था, उसने अब मोन करना शुरू कर दिया था, ५ मिनट के बाद वह दूसरी बार पानी छोड़ चुकी थी, जब मेरा भी पानी निकलने वाला था मैंने बोला, बेबी मैं आ रहा हूं, वह बोली मेरे बूब्स पर छोड़ दो.

फिर मैंने उस के बोल की मसाज की मेरे स्पर्म से और उन को सक करता रहा. ५ मिनट के बाद मेरा लंड फिर खड़ा हो चुका था, वह भी तड़प के पागल हो रही थी.

मैंने देर ना करते हुए अपना लंड  उसकी चूत पर सेट किया और एक जोरदार झटका मारा, उसकी चूत में चला गया और वो जोर से चिल्ला उठी. मैंने अपना हाथ उसके मुंह पर रखा और बोला पागल हो गई है क्या? अपने मां बाप को बुलवायेगी क्या?

फिर मैंने एक बार जोर से धक्का दिया तो पूरा लंड अंदर चला गया, उसकी आंखों से आंसू आने लगे. फिर में २ मिनिट लेटा रहा, फिर वापस उसे चोदना शुरू किया, इस बार उसे मजा आ रहा था और फुल गांड उठाकर मेरा साथ दे रही थी, अब हम दोनों जोर जोर से चुदाई कर रहे थे और रूम में हमारी आवाज बढ़ती जा रही थी, एक पल तो हम भूल गए कि हमारे सिवा घर में और भी लोग हैं, तभी दरवाजे पर कोई आवाज करता है हमारी हालत खराब हो जाती है.

हम फटाफट के कपड़े पहनने लगते हैं और मैं अपने कपड़े लेकर बाथरूम में भाग जाता हूं और वह कपड़े पहन के दरवाजा खोलती हे तो दरवाजे पर उसकी मा होती हे.

उसकी मां पूछती हे बेटा यहां से कैसे आवाजे आ रही है, तो वह बोलती है मां मैं फोन में गाने सुन रही थी और उसकी मां उसको गुड नाइट बोलकर चली जाती है. फिर उस रात मेंने उसको अच्छे से बार और चोदा और फिर करीब सुबह ५ बजे उसके घर से निकल जाता हूं.

अगले दिन मे फिर उसके घर जाता हूं और हम साथ में बैठ के ऑफिस का काम कर रहे थे, तभी उसकी मां आती हे हमारे लिए नाश्ता और कोफ़ी लाती है और तभी प्रियंका का ऑफिस से कॉल आता है कि आज आप को एक मीटिंग अटेंड करने के लिए घंटे बाद ही वाशी पहुंचना होगा, एक घंटे में बोरीवली से वाशी पहुचना आसान नहीं है तो वह वहां से चली जाती है और उसकी मां और मैं वहां रह जाते हैं.

तब हम दोनों नॉर्मली बैठकर कॉफी पी रहे थे और बातें कर रहे थे कि काम कैसे चल रहा है? मेरी बेटी ऑफिस में क्या करती है? वगैरह वगैरह. उस दिन में और आंटी फेसबुक,  इंस्टाग्राम बाकी सारी सोशल साइट पर कनेक्ट होते हैं और नंबर भी एक्सचेंज करते हैं.

फिर २ दिन बाद संडे को प्रियंका के पिता के फार्म हाउस पर जाकर पार्टी करने का प्रोग्राम बनता है.

प्रियंका और हमारे बाकी कलीग, प्रियंका के पिताजी और उनके दोस्त और प्रियंका की मां हम सब अटेंड करते हैं.

हम वहा जाकर पहुचते हे. प्रियंका के पिता जी उनके दोस्तों को लेकर अनजान जगह पर दारू पार्टी करने जाते हैं, और आंटी नौकरों के साथ पार्टी का अरेंजमेंट करने में लग जाती है.

उस दिन वह बहुत ही सेक्सी लग रही थी उसने हॉट स्लीवलेस टॉप और टाइट जींस पहना था और वह बहुत ही सेक्सी थी. कुछ घंटे बाद हम सब पी के थक जाते हैं और ऊपर हॉल में जाते हैं चेंज करने के लिए, और हम वहां पर ट्रुथ ओर डेर खेलने लगते हैं, वहां पर हम सब कपल होते हैं. धीरे धीरे हम गेम खेलते हैं और हम एक दूसरे के साथ छेड़खानी करने लगते हैं.

हर कोई अपनी गर्लफ्रेंड के साथ रोमांस करने लगता है. हम सब चार कपल थे वहां पर. सब लोग एक साथ रोमांस कर रहे थे. धीरे धीरे हमने अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिये, अब सबको शर्म आ रही थी पर कोई रुक भी नहीं रहा था, हर कोई अपने पार्टनर के साथ साथ दूसरों को भी रोमास करता हुआ देख रहा था.

१५ मिनट के बाद सब नंगे हो जाते हैं और सेक्स करने लगते हैं, हम में से एक होता है समीर उसका पानी चुदाई के पहले ही निकल जाता है और उसकी गर्लफ्रेंड को नहीं चोद पाता, और उसकी गर्लफ्रेंड उस को दो थप्पड़ मार के जमीन पर गिरा देती है, और हम सब उसका मजाक उड़ाते हैं, तभी अनामिका उसकी गर्लफ्रेंड पास जाकर आशीष को किस करने लगती है, जब आशीष उसकी गर्लफ्रेंड को चोद रहा होता है.

थोड़ी देर बाद वैभव भी आउट हो जाता है और उसकी गर्लफ्रेंड भी उसको दो थप्पड़ मार कर मेरे पास आ जाती है. अब हम दो लड़के और वह चार लड़कियां. उधर वैभव और समीर ब्रेकअप के गम में हैं और दारु पी रहे थे, हम बारी बारी से चार लड़कियों को बदल कर चोद रहे थे और फिर बाद में सब थक के नंगे ही सो जाते हैं.

loading...

सबको नींद आती हे पर मुझे नहीं आती क्योंकि मैंने २ वियाग्रा की टैबलेट खा ली थी  सेक्स से पहले और मेरा लौड़ा बैठा ही नहीं रहा था, फिर मैं शोर्ट पहन के हॉल में से बाहर निकलता हूं तो दिखता हूं कि आंटी सामने सोफे पर बैठ कर रो रही है, मैं उस के पास जाकर बैठता हूं और पूछता हूं क्या हुआ आप क्यों रो रही है?

तो बोलती हे की मैं तुम सब के लिए कितने मेहनत से खाना बनवाया और ना तुम लोग खाना खाने आए ना मेरे पति और उसके दोस्त. तो मैंने देखा कि अंकल और उनके सारे दोस्त कहीं नजर नहीं आ रहे थे, और आंटी बताती हे कि वह लोग गाड़ी लेकर गए थे और फिर फोन करके बोले हम लोग आउट ऑफ टाउन निकल गए अब नहीं आ पाएंगे, तुम लोग एंजॉय करो.

Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi sex stories, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, desi sex story, Hindi sex, stories, story, hindi, indian, Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, Hindi sex, stories, story, indian, new sex indian story