Home / Hindi / हिजड़े ने ट्रेन में मेरा लंड पकड़ लिया और अपनी साड़ी उठा कर छेद दिखाया

हिजड़े ने ट्रेन में मेरा लंड पकड़ लिया और अपनी साड़ी उठा कर छेद दिखाया

new sexy stories  मैं मोहन बंसल एक व्यापारी हूँ मेरी उम्र 32 साल है। अभी तक मेरी शादी नहीं हुई है, किसी को चोदने का मन होता है लेकिन खुद को कन्ट्रोल में रख कर अपने काम पर ज्यादा ध्यान देता हूँ। मैं काम के सिलसिले से रात की ट्रेन में सफर कर रहा था, ट्रेन खाली थी ज्यादा लोग नहीं थे सभी के रिजर्वेशन दूर दूर थे। ट्रेन की लाइट बंद कर के सभी सोये थे। 1 बजे के करीब कुछ आवाज से मेरी नींद खुल गयी मैंने देखा हिजड़े ट्रेन में पैसे मांग रहे थे। मैं बहोत कंजूस आदमी हूँ, सोने का ड्रामा किया और हिजड़ों की आवाज से नहीं जागा। मेरी आँख बंद थी उनमे से एक हिजड़े ने मेरा लंड मेरी जीन्स के ऊपर से पकड़ लिया और जोर से दबा दिया मुझे दर्द हुआ। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम   हिजड़ा मेरा लंड रगड़ने लगा मेरे अंदर जोश की लहर दौड़ गयी मेरा 7 इंच का लंड जीन्स में खड़ा हो कर तम्बू बना लिया।

मैं धीरे से आँखे खोल कर देखा 2 हिंजड़े थे। दूसरा बोला देख साला सोने का ड्रामा कर रहा है। देख कैसे लौड़ा खड़ा हुआ है इसका, खोल चैन निकाल बाहर देखे कितना बड़ा है। जिस हिजड़े ने मेरा लंड पकड़ा हुआ था वो जीन्स की चैन खोल कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया। दोनों की एक साथ आवाज आयी – हाय हाय देख रे कैसा तगड़ा मोटा लंड है साले का। वो दोनों मेरा लंड हाथ से छू रही थी, जिस तरफ मेरा सर था अँधेरा था मैं अपनी आँखें हलकी खुली कर के उनको देख रहा था। उसमे से एक बोली रुक साले को अभी मजा चखाती हूँ। वो मेरा लंड जोर से पकड़ कर चींटी काटी मैं चीख कर उठ गया और बोला क्या कर रही है तू ?
वो दोनों कहने लगी साले सोने का नाटक क्यों कर रहा है?
मैं चुप था, वो पैसे मांगने लगी लेकिन मैं कंजूस आदमी देने से इंकार कर दिया।
दोनों हिंजड़ो में से एक बिल्कुल लड़की की तरह दिख रही थी उसको देख कर मेरे अंदर चुदाई की प्यास जाग गयी। वो हिजड़ा मेरा लंड पकड़ ली और बोली पैसे निकाल नहीं तो आज इसको नहीं छोड़ने वाली, इसको शांत करना है तो बता मेरे पास छेद है। इतना बोल कर वो अपनी साड़ी उठा दी और मोबाइल की टॉर्च ऑन कर बोली ले देख चूतिये छेद है। उसकी योनि औरत के जैसे ही थी लेकिन विकसित नहीं हुई थी। मैं बोला इसको कैसे चोदुँगा?

वो मुझे गली देते हुए बोली – अरे माधरचोद यहाँ तेरा लौड़ा जायेगा भी नहीं मेरी गांड में डालना पड़ेगा, बोल गांड मारेगा तो बता दोनों मेसे किसी को चुन ले जिसकी मरेगा
मैं बोला- तेरी लूंगा मैं,, लेकिन ऐसे चलती ट्रेन में कोई आ गया तो ?
वो बोली कोई नहीं आएगा हमारे और साथी है इस ट्रेन में सब जुगाड़ है तू चिंता मत कर लेकिन गांड मरवाने का 1000 रूपया लुंगी।
मैं ठहरा कंजूस मेरी 1000 रूपया सुन के लंड ढीला पड़ गया गया, मैं बोला 500 दूंगा बोल चलेगा ?
वो मान गयी, मैं अपना जीन्स नीचे सरका दिया और उसको मेरे ऊपर आने को बोला। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
दूसरा हिजड़ा खड़ा देख रहा था अपने ब्लाउज से तेल का पाउच निकाला और मेरे लंड के ऊपर डाल के मलने लगा।
दूसरी वाली अपना साड़ी उठा कर मेरे लैंड पर बैठी, मेरा लंड सुरपपप से उसकी गांड में चला गया उसकी गांड मुलायम और गरम थी। वो ऊपर निचे हो कर झटके देने लगी।

loading...

ट्रेन के झटकों के साथ वो भी हिल रही थी उसके गांड गोरे गोरे हवा में ऊपर नीचे हो रहे थे, मैं उसको बोला ऐसे मजा नहीं आ रहा चूचियाँ दिखा दो एक बार छू कर देखना चाहता हूँ।
वो बोली इसके 100 रुपया और लगेगा, मैं जोश में था मान गया। वो आपने ब्लाउज खोल कर ब्रा उतार दी उसके बूब्स काफी बड़े और टाइट थे हवा में गोल गोल घूमने लगे मैं दोनों बूब्स पकड़ कर दबाने लगा, क्या मस्त मुलायम बूब्स थे मजा आ रहा था। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

दूसरी वाली अपना बूब्स बाहर निकाल कर मेरे मुँह में डाल कर बोली ले मेरा मजा फ्री में लेले मजा आये तो कुछ दे देना मैं चुपचाप उसके बूब्स चूसने लगा। मेरी दोनों तरफ से मौज थी।
अब वो मेरे मुँह से बूब्स निकाल कर अपने साथी को बोली अरे रेशमा चल उठ मैं अब इसका लंड लुंगी। पहली वाली मेरे लंड से उठ कर मेरे मुँह के ऊपर घुटनो के बल कुतिया बन कर चढ़ गयी। और दूसरी मेरे लंड पर जा बैठी और जोर जोर से गांड हिला हिला कर चोदने लगी पच पैच थप तहप की आवाज आ रही थी। पहली वाली जिसे नाम रेशमा था, वो मेरे मुँह में अपना गांड रगड़ने लगी मुझे अच्छा नहीं लगा लेकिन जोश इतना था मैं उसके दोनों बूब्स हाथ से मसलते हुए उसकी गांड चाटने लगा। 10 -12 मिनट की चुदाई के बाद मेरा वीर्य छूटा और हिजड़े की गांड में भर गया। वो चमक कर खड़ी हुई और बोली अरे भोसड़ी के जब निकलने वाला था बताया क्यों नहीं साला गांड गन्दा कर दिया।

दोनों अपने कपडे ठीक करने लगी मैं अपना चड्डी और जीन्स ऊपर किया और लाइट चालू कर बैठ गया। मुझे ऐसे चुदाई में बहोत मजा आया था, आज मैं खुस ज्यादा था इसलिये मेरी कंजूसी का पता ही नहीं चला और मैं 1000 रुपये अपने खुसी से उन दोनो को दिया। दोनों मुझे चुम्मा दे कर हाय हाय करती आगे चली गई किसी और से गांड मरवाने।

loading...

Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi sex stories, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, desi sex story, Hindi sex, stories, story, hindi, indian, Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, Hindi sex, stories, story, indian, new sex indian story