Home / Hindi / बूढ़े मकान मालिक ने मुझे चोदा और अपने दो दोस्तों से चुदवाया

बूढ़े मकान मालिक ने मुझे चोदा और अपने दो दोस्तों से चुदवाया

मैं रेशमा शर्मा आप सभी का एक बार फिर से स्वागत करती हूँ, आप ने मेरी पिछली कहानी पिज़्ज़ा वाले ने पिज़्ज़ा मेरी चूत में और लंड मुँह में डाला पढ़ी होगी, अब मैं आप को आगे की कहानी सुना रही हूँ.

मैं पिज़्ज़ा वाले राकेश को बुला कर मस्त चुदाने में लगी हुई थी, तभी डोर बेल बजी और मैं जल्दी से टॉप और स्कर्ट पहन ली और पिज़्ज़ा वाला लड़का भी कपडे पहन लिया मैं जैसे ही दरवाजा खोली सामने मेरे मकान मालिक थे। उन्हें इस तरह अचानक देख कर मैं चौक गयी क्यों की पिज़्ज़ा वाला अंदर था और मुझे पकडे जाने का डर था। तभी मेरे बूढ़े मकान मालिक जिसे मैं ताऊजी बुलाती हूँ वो अंदर आये और बोले इतने देर क्यों लगा दी दरवाजा खोलने में, मैं बोली – ताऊजी पिज़्ज़ा ले रही थी फिर वो पूछे ये पिज़्ज़ा वाला लड़का पिज़्ज़ा खा कर जायेगा क्या ? मैं बोली नहीं ताऊजी इनको पैसे देने के लिए मैं रोकी थी। मैं उसको जल्दी से पैसे निकल कर दी और पिज़्ज़ा वाला राकेश चला गया।

ताऊजी आप तो बाहर गए थे जल्दी आ गए ? ताऊजी बोले – हां मेरा काम जल्दी हो गया इसलिए बेटा और बहु मुझे घर छोड़ कर शॉपिंग के लिए गए है।
मैं आप को बता दू मेरे माकन मालिक के घर में उसका बेटा और बहु है, जिनकी शादी को 1 साल ही हुआ है और बुड्ढे ताऊजी की बीवी ६ साल पहले बीमारी की वजह से गुजर गयी। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 

loading...

ताऊजी मेरे बिस्तर में बैठ गए और बोले तुमने उसको अंदर ले कर दरवाजा क्यों बंद किया था ?
मैं बहाना करते हुई बोली ताऊजी तेज हवा चल रही थी न इसलिए दरवाजा बार बार खुल बंद हो रहा था इसलिए कुंडी लगा दी थी। तभी ताऊजी की नजर निचे जमीन पर पड़ी मेरी ब्रा और पेंटी पर गयी, मैं जल्दी – जल्दी में ब्रा पेंटी पहनना भूल गयी थी, ताऊजी बोले इसको बहार क्यों राखी हो पहन लो, मैं ब्रा और पेंटी उठा कर बाथरूम की तरफ जाने लगी तभी ताऊजी बोले वहाँ क्यों जा रही हो यही पहन लो।

मैं चौक गयी और बोली ताऊजी आप कैसे बात कर रहे है? 
ताऊजी – अच्छा उस पिज़्ज़ा वाले लड़के से चुदवा रही थी और मुझे बेवकूफ समझती है तू ??
मैं – ताऊजी आप कैसी बात कर रहे है, आप को कोई ग़लतफ़हमी हुई है।
ताऊजी – साली चुड़क्कड़ मुझे पागल समझती है मैं बाहर से सब सुन लिया हु, तू अंदर पिज़्ज़ा ले रही थी या चूत में लंड ? आह आह्हः उईईई और जोर से चोदो ये कौन बोल रहा था तेरी अम्मा ? आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। मैं चुपचाप खड़ी थी मेरी समझ में नहीं आ रहा था क्या करू।

तभी बुढऊ उठा और मुझे आ कर पकड़ लिया और बोला मैं 6 साल से किसी को चोदने के लिए तड़प रहा हूँ मझ से भी चुदवा ले मस्त चोदुँगा मेरी उम्र पर मत जा तेरी चूत फाड़ दूंगा एक बार मुझे भी आजमा ले जानेमन। ऐसा बोलते हुए वो मुझे जोर से पकडे हुए थे और मेरी गांड को जोरो से मसल रहे थे। मैं फिर से गरम होने लगी, मेरी पिज़्ज़ा वाले से चुदाई अधूरी रह गयी थी और अब एक बूढ़ा मुझे चोदने को बेताब था।

मैं बोली ठीक है लेकिन सिर्फ एक बार और आप किसी को कुछ नहीं बोलोगे ?
ताऊजी बोले थी है और मेरी टॉप उतार दी और मेरे बूब्स को किसी बच्चे की तरह चूसने लगे मुझे उनका चूसना अच्छा लग रहा था अब वो मुझे बिस्तर पर लेटा दिए और मेरी स्कर्ट उतार कर मेरी चूत किसी कुत्ते की तरह चाटने लगे।

कभी वो मेरी चूत चाटते कभी चूत के दाने को दांत से काट लेते मुझे इतना आनंद आ रहा था मैं बता नहीं सकती मेरी चूत से पानी निकलने लगा और मकान मालिक ताऊजी पूरा चाट कर साफ़ करते जा रहे थे। ताऊजी उठे और अपने कपडे निकल दिए और जैसे उन्होने अपनी चड्डी उतारी यही कोई 7 इंच का मोटा काला लंड मेरी आँखों के सामने था। जिसे देख कर मैं चौक गयी इतना लम्बा और मोटा लंड तो पिज़्ज़ा वाले राकेश का भी नहीं था, मेरे मुँह में पानी आने लगा और मैं उनका लंड मुँह में लेकर चूसने लगी उनके लंड से अजीब सी बदबू आ रही थी शायद वो बूढ़े हो गए है इसलिए। थोड़ी देर लंड चूसने के बाद ताऊजी बोले रेशमा चल लेट जा मैं मुझे जन्नत की सैर करता हूँ। ताऊजी मेरी दोनों टांगो को उठा कर अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे मेरी चूत अभी भी टाइट थी इसलिए उन्होंने जोर का धक्का दिया और पूरा लंड मेरी चूत की गहराई में चला गया मुझे थोड़ा दर्द हुआ लेकिन जैसे ही ताऊजी लंड आगे पीछे करने लगे मुझे मजा आने लगा। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 

ताऊजी मुझे पूरी ताकत लगा कर चोद रहे थे मैं भी पूरे जोश से उसका साथ दे रही थी 10-12 मिनट जी चुदाई के बाद – आह आह आह्ह्ह्हह ऊह्ह्ह्हह्ह्ह्ह और जोर तेज और तेज आअह आउच उम्मम्ममाहहहह मेरी छूट से पानी निकलने लगा मैं ताऊजी को कास कर पकड़ ली और ढीली पड़ गयी, अभी भी ताऊजी मुझे चोद रहे थे मेरी चूत का बुरा हाल हो रहा था तभी उनके लंड से गरमा गर्म वीर्य निकला और मेरी चूत में भर गया अभी तक ताऊजी रुके नहीं और मेरी चूत से फच फच की आवाज आने लगी और पूरा वीर्य निकल कर बिस्तर में गिरने लगा ताऊजी उठे और लंड मेरे मुँह में डाल दिए उसके लंड पर वीर्य और मेरी चूत का पानी था जिसे चाट कर मैं साफ़ कर दी।

ताऊजी मेरे ऊपर चढ़ कर सो गए और किसी बच्चे की तरह मुझ से लिपट गए। सच कहु तो मुझे उस जवान लड़के से ज्यादा बूढ़े ताऊजी से चुदवा कर मजा आया था।

मैं ताऊजी को बोली अभी आप जाओ और आगे से जब चाहो मुझे चोद सकते हो ताऊजी जी खुश हो गए और मेरी गांड चाटने लगे मैं बोली क्या कर रहे हो? ताऊजी बोले मेरी रंडी मैं तेरा गांड चोदुँगा ताऊजी मेरी गांड की छेद गीली कर दिए और मुझे घोड़ी बनने को बोले मैं घोड़ी बन गयी अब वो मेरी गांड में अपना लंड डालने लगे उसका लंड अंदर जैसे ही गया मेरी गांड फट गयी और मैं छटपटाने लगी वो रुक गए और एक बार बहोत जोर का धक्का दिए उनका पूरा लंड मेरी गांड फाड़ कर अंदर चला गया था।
मैं उसको रुकने को बोली दर्द की वजह से आँखों से आंसू गिरने लगे। ताऊजी पीछे से मुझे लिपट कर चूमने लगे और मेरे बूब्स दबाने लगे २ मिनट बाद उन्होंने मेरी गांड मारना शुरू किया और लगतार 15 – 20 मिनट तक मेरी गांड चोदते रहे मुझे मजा रहा था और मैं सिसकारियां ले कर चुदवा रही थी इस बार मुझे और ज्यादा मजा आया।

ताऊजी के लंड का पानी निकलने वाला था वो उठे और मुझे निचे बैठा कर मेरे चहरे पर अपना पूरा वीर्य निकल दिए।
हम दोनों बाथरूम जा कर साफ़ हुए और फिर ताऊजी कपडे पहन कर मेरे बूब्स दबाते हुए निचे चले गए। उस दिन से ताऊजी मुझे जब भी मौका होता आकर चोदने लगे।

1 महीने बाद मेरी छुट्टियां चल रही थी ताऊजी के बेटा बहु दोनों ऑफिस गए हुआ थे। ताऊजी के घर पर उनके 2 दोस्त आये थे। मैं सोच रही थी आज चुदाई का मौका है और ताऊजी दोस्तों को बुला कर गप्पे लगा रहे है तभी ताऊजी ने मुझे आवाज दिया और बोले रेशमा निचे आ जाओ मैं तुम्हे अपने दोस्तों से मिलवाता हूँ।
मैं जैसे निचे गयी ताऊजी उठे और मेरी गांड मसलते हुए मुझे पकड़ कर अपने गोद में बैठा लिए, मैं डर गयी।
मरे मकान मालिक ताऊजी बोले जानेमन मेरे दोस्तों को मैंने सब बता दिया है तुम शर्माओ मत मैं थोड़ा डरी हुई थी, मैं समझ गयी आज ताऊजी और उनके दोनों दोस्त ये तीनो मिल कर जरूर मेरी चुदाई करेंगे लेकिन तीन लंड से एक साथ चुदाई और भी मजा देगा ये सोच कर मेरी चूत गीली होने लगी मैं आज ऐसे ताऊजी की गोद में बैठी हुई थी जैसे मैं इन तीनो बुड्ढ़ो की रंडी हूँ। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। 

loading...

कहानी के अगले पार्ट में मैं आप को बताउंगी कैसे इन तीनो बुड्ढ़ों ने मुझे रंडी की तरह चोदा।

Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi sex stories, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, desi sex story, Hindi sex, stories, story, hindi, indian, Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi sex stories, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, desi sex story, Hindi sex, stories, story, indian, new sex indian story