Home / Hindi / उसकी चूत में थोड़े थोड़े बाल थे

उसकी चूत में थोड़े थोड़े बाल थे

हाय दोस्तों मेरा राज और में झारखंड से हु. आज आपको एक इंडियन सेक्स स्टोरी सुनाने जा रहा हूं, जो मेरे साथ कुछ दिन पहले ही घटी थी. अब स्टोरी पर आता हूं मेरा एक दोस्त है जिसका गर्ल्स होस्टल है और वह उसी के चौथे माले पर रहता है. यह बात राखी के टाइम की है उसकी वाइफ राखी में अपने मायके गई थी.

एक दिन मेरे दोस्त ने मुझे बोला कि घर पर कोई नहीं है और हॉस्टल में भी बहुत कम लड़कियां हैं राखी की वजह से तो रात में तुम मेरे पास ही रुक जाया करो यही कुछ खाना मंगवा लेंगे तो मैं रुक गया, लेकिन रात को मुझे नींद नहीं आ रही थी

loading...

नयी जगह के कारण शायद. तो मैं ४ बजे मॉर्निंग वॉक के लिए निकलने के लिए रेडी हो गया और नीचे आने लगा तो देखा कि एक लड़की मोबाइल पर बात कर रही थी किसी से, और मुझे देख कर फोन कट कर दिया, और मुझे गुड मॉर्निंग बोली. मैंने पूछा कि पूरी रात फोन में लगी हो क्या सोई नहीं? तो वो जो बोली मैंने कभी उम्मीद नहीं की थी.देसी पोर्न स्टोरी डॉट कॉम वह बोली रात में नींद अब कहां आती है? आप समझ सकते हैं और किसके साथ रात गुजारु को कोई है भी नहीं इतना बोल कर मेरे से लिपट गई और मुझे किस करने लगी.

इधर उधर गले में, गाल में, लिप्स में उसका हाथ मेरे पीठ में चारों तरफ घूम रहा था. उसके बुब्स मेरे सीने में दब रहे थे और आप लोगों को तो पता है सुबह सुबह को लंड महाराज वैसे भी ज्यादा एक्टिव रहते हैं तो मैंने भी उसके किस का रिप्ले किस से देना शुरू कर दिया हम लोग अभी सीडियो में ही थे.

करीब ५ मिनिट तक हमने किस की मैं किस के साथ साथ बुब्स भी प्रेस कर रहा था और वह धीरे धीरे आवाज कर रही थी, फिर हम लोग अलग हो गए लेकिन उसे तो पूरा काम करना था, मैंने तब समझा अगर किसी लेडी को मन करे सेक्स का तो वह कुछ भी नहीं देखती बस सेक्स ही सेक्स नजर आता है उसे, उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपने रूम में ले गई और जाते ही रूम लॉक किया और फिर लिपट गई.

मैंने भी उसे गोद में उठाया और बेड पर ले गया अब उसने मेरे शर्ट उतारी और सीने में किस करने लगी, मेरे निप्पल को चूमने चाटने लगी और बाइट करने लगी. फिर मैंने उसका टी शर्ट उतार दिया ब्रा भी खोल दिया और बूब्स को मुंह में लेकर चूसने लगा, निप्पल से खेलने लगा, दोनों बूब्स को दबाने लगा जैसे मैसेज करते हैं. उसके बूब्स करीब ३४ की होगी, उसकी टाइट और खड़े खड़े बहुत मस्त बूब्स है उसकी.

अब वो मेरे पेंट को निकाल दी और अंडरवेअर भी निकाल दिया, और मेरे खड़े लंड को प्यार से देखा और चुम लिया बोली के ऊपर वाले का सबसे कीमती चीज है यह, मैं कितना तडपी हूं इसके लिए, और यह बोल कर मुंह में ले लिया और बहुत प्यार से चूसने लगी, सच बताओ ऐसा लंड आज तक किसी ने नहीं चूसा होगा, कभी थोड़ी देर चुसती फिर लंड को गौर से देखती और फिर से चूसती.

करीब १५ मिनट तक लंड की सेवा की उसने, अब मेरी बारी थी कि मैं भी उसकी चूत की सेवा करू, तो मैंने भी उसकी पैंटी उतार दी उसकी चूत में थोड़े थोड़े बाल थे, मुझे लगता है कुछ दिन पहले ही साफ की होगी बालों को या फिर ट्रिम करती होगी, मस्त पूरा फुला हुआ चूत था उसका, चुदाई को रेडी, मैंने उस के पैरों को फैलाया और चूत की कपट दोनों उंगलियों के खोली वाह क्या चूत के दर्शन हुए, चूत रानी की जय, पूरा चुत गीला और गुलाबी था.

मैंने चूत रानी को बहुत प्यार से चुमा और चूत के दाने को जीभ से सहलाया, वह आह फह हहह ओह्ह औम्म्म अह्ह्ह एस अह्ह्ह ओह्ह हहह आवाज निकलने लगी और मेरे सर को चूत में दबाने लगी, मेरा पूरा मुंह लिप्स के आसपास चूत के अमृत से गीला हो गया, अब मैं चूत के दाने को कभी चुसता, कभी चाटता तो कभी जीभ फेरता, अब वह बोलने लगी प्लीज अब कीजिए ना अब रुका नहीं जा रहा प्लीज डाल दीजिए.

नेक्स्ट टाइम फिर से कर लीजिएगा अभी प्लीज डालिए ना. मैंने भी लंड को चूत में रखा तो ऐसा लगा कि मानो बाहर तक गर्मी आ रही हो, अपने लंड से सहलाने लगा उसके अपनी आंखें बंद कर ली थी और मुंह को खोल रखा था टांगे फैला रखी थी.

लंड महाराज के स्वागत में, मैंने धीरे से लंड को पूश किया चूत में, गरम चूत लगा लंड जल जाएगा, लेकिन गर्मी का अलग ही एहसास होता है, मैं धीरे धीरे लंड को अंदर कर दिया और उसके ऊपर लेटकर उसे किस करने लगा.

दूध दबाते हुए लंड को आगे पीछे करने लगा. आह्ह ओह ह्हह्ह ओह्ह हहह उम्म्म येस्स आवाज हम दोनों के मुंह से निकल रही थी. हम सेक्स के सागर में गोते खाते रहे, तब मैंने बोला कि तुम ऊपर आओ वह उपर आ गई चूत में लंड सेट किया और धीरे धीरे ऊपर नीचे होने लगी, उसके बूब्स मस्त हिल रहे थे.

मैंने बूब्स को थाम लिया और वह ऊपर नीचे होते हुए कभी अपने बाल को ठीक करती कभी मेरे सीने में हाथ रख देती अब वह मेरे ऊपर लेट गई और मैं उसे नीचे से चोद रहा था मेरा लंड  रफ्तार पकड़ चुका था और मेरा होने वाला था मैं जड़ने वाला था तो मैं रुक गया और उसे घोड़ी बनने को बोला और मैं पीछे से डॉगी स्टाइल में चोदने लगा.देसी पोर्न स्टोरी डॉट कॉम वह बोली कि मेरे बालों को पकड़ लो लगाम की तरह और में आगे पीछे होती हूं, मैंने भी बालों को पकड़ लिया और वह आगे पीछे होने लगी, मेरा पूरा लंड को बाहर करती  फिर अंदर लेती ऐसे चुदाई मैं तो और भी मजा आ रहा था, पच पच की आवाज हो  रही थी. मैं बीच बीच में उसकी गांड को चपट भी मार रहा था.

अब मैंने उसे बोला कि अब लेट जाओ मैं तुम्हारे ऊपर आता हूं, भाई कुछ भी बोलो चुदाई का मजा लड़की के ऊपर लेट कर ही ज्यादा आता है. और मैं ऊपर आ गया और चूत में लंड डालकर चुदाई स्टार्ट कर दी, अब की बार मैं पहले से तेज चुदाई कर रहा था, वह भी अब बोलने लगी फक मी फक मी और तेज और तेज में जडने वाली हूं और करो रुकना नहीं और तेज और तेज करो और मुझे काफी जोर से जकड़ लिया. मेरा भी २-४ झटकों के बाद निकल गया.

loading...

फिर करीब १०  मिनट तक हम यूं ही चिपक कर लेटे रहे हैं. में उसके बूब्स को मुंह में लेकर चूस रहा था फिर हम उठ गये और लंड को और उसकी चूत को अपने रुमाल से साफ किया तो वह बोली की यह रुमाल मुझे दे दो, इसे में रखूंगी.

Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi sex stories, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, desi sex story, Hindi sex, stories, story, hindi, indian, Sex Story, hindi sex kahani, desi Sex kahani, hindi sex story, hindi xxx story, sex kahani, sexy story, indian sex stories, indian sex story, Sex story, hindi sex, desi sex stories, xxx stories, Hindi sex, stories, story, indian, new sex indian story